*आरोग्य भारती के कार्यक्रम में लोगों को स्वस्थ्य रहने की जानकारियां दिया गया* - Ideal India News

Post Top Ad

*आरोग्य भारती के कार्यक्रम में लोगों को स्वस्थ्य रहने की जानकारियां दिया गया*

Share This
#IIN
 डा यू एस भगत वाराणसी
*आरोग्य भारती के कार्यक्रम में लोगों को स्वस्थ्य रहने की जानकारियां दिया गया*





विंध्याचल स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में आरोग्य भारती के तत्वाधान में स्वस्थ्य व्यक्ति, स्वस्थ्य परिवार, स्वस्थ्य ग्राम, स्वस्थ्य राष्ट्र का कार्यक्रम कर आयुर्वेदिक दवाओं का वितरण किया गया। इस दौरान सबसे पहले भारत माता और महापुरूषों के तस्वीरों पर पुष्प अर्पित कर पूजन अर्चन किया गया।इसके उपरांत कार्यक्रम में आए सभ्य जनों और ग्रामीण और बस्ती की महिलाओं और पुरुषों  को आयुर्वेद के संदर्भ में बताया गया।
*गणेश अवस्थी जी ने बताया कि आरोग्य भारती वह तरीका बताता है जिससे वह स्वस्थ रह सके। स्वस्थ्य रहने के लिए सिर्फ चिकित्सकों पर ही न निर्भर रहे इसके लिए आरोग्य भारती आपको स्वस्थ्य रहने के लिए अनेक रोगों के संदर्भ अनेक प्रकार के तरीकों को बताता है।जैसे छोटी छोटी बातों पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा गया कि बच्चों को और खुद भोजन करने से पहले अपने हाथों को साफ पानी से धो लें और अपने आस पास के चीजों को स्वच्छ रखें और बासी भोजन करने से परहेज़ करें,सुबह खाली पेट गुनगुना पानी पीना चाहिए, आज दूषित पानी पीता है वह तरह तरह की बीमारियों से ग्रसित हो जाता है।सुबह सुबह गुनगुना पानी पीने से आप 40 बीमारियों से बच सकते है। अंकुरित दाना और सलाद से सम्बन्धित वस्तुओं को सदैव धो कर ही खाना चाहिए,उन्होंने बताया कि आज गिलोय को राष्ट्रीय औषधि कहा गया है और उसका नाम अमृता भी रखा है।*

*डॉ विवेक सिंह जी बताया कि जब पित्त बढ़ता है तो लोग बुखार से ग्रसित होते है और वह शरद ऋतु से पहले बरसात में ही होता है इस समय पित्त का प्रकोप बढ़ा हुआ है इसलिए हम लोगो को ऋतु भोजन का सेवन करना चाहिए इस ऋतु में खट्टे और तीखे वस्तुओं को नहीं खाना चाहिए,।उन्होंने रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए आयुष काढ़े का भी वितरण कर उसका प्रयोग कैसे करे उसके संदर्भ में विधिवत जानकारियां दी।*
*डॉ टी एन द्विवेदी ने बताया कि इस कोरोना काल में हम लोग अपने एमुनिटी पॉवर को बढ़ाना चाहिए, प्राणायाम से हम आधा घंटे में ही अपने इमुनिटी पॉवर को बढ़ा सकते है।उन्होंने बताया कि प्राणायाम से हम अपने शरीर को सुव्यवस्थित रख सकते है।दांत के रोग से हृदय रोग और कई घातक बीमारियां पैदा होने लगता है इसलिए हम लोगों को छोटी छोटी बातों पर ध्यान चाहिए।हम लोग सुगर को मेंटेन करने के लिए मीठे चीजों को खाते और वैसे ही सो जाते जो सुगर को बढ़ावा देता है। हमें खाने के बाद बाकायदा ब्रश करना चाहिए।यदि हम सुबह और रात को भोजन करने से पहले अच्छे ढंग से ब्रश करें तो कई हानिकारक रोगों से बच सकते है।*
*डॉ अवनीश पाण्डेय ने मानसिक तनाव से बचने के लिए उपाय बताये, साथ ही कहा कि योग एवं प्राणायाम के साथ साथ हमे अपना आहार और जीवनशैली को सुधार कर हम स्वस्थ रह सकते हैं।*
*कार्यक्रम के अंत में राकेश शुक्ला ने लोगों को सम्बन्धित करते हुए बताया कि ईश्वर ने जब हम लोगों को पैदा किया उस समय सभी गुण और अवगुण भी दे दिया है। यदि हम इस जीवन में अपने आयु को बढ़ाने के लिए इस प्रकृति ने तरह के लाभदायक नियम,संस्कार और औषधियों के साथ शरीर में ऐसे कई तरीके है जिससे हम लोग स्वस्थ्य रह सकते है।उन्होंने बताया कि कुछ बीमारियां तो हम लोग अपने लापरवाहियों से ही बुला ले रहे है।हम कब खाए, कब जागे,कब सोए इसका नियम आज तक नहीं बना पाए है जिसके वजह से आज हम लोग बीमारियों से ग्रसित होते जा रहे है।चाय और कॉफी के बजाय आज काढ़ा की तरफ क्यों रुख कर रहे है काश कि हम पहले से ही काढ़ा और गर्म पानी का प्रयोग करते होते तो आज यह दिन नहीं देखना पड़ता।आज यदि हम स्वस्थ्य रहते है तो हमारा समाज,हमारा देश,हमारा परिवार सब स्वस्थ्य रहेंगे।*

*कार्यक्रम के अंत में विद्यालय के प्रधानाचार्य मिलन जी ने कार्यक्रम में आए हुए सभी लोगों का आभार व्यक्ति किया।*
*कार्यक्रम का कुशल संचालन डॉ.अवनीश पांडेय जी ने एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ संदीप श्रीवास्तव जी ने किया*

*इस दौरान राष्ट्रीय स्वयम सेवक संघ काशी प्रांत के सह प्रांत कार्यवाह श्री सोहन जी श्रीमाली, डॉ गणेश अवस्थी, डॉ विवेक सिंह, डॉ संदीप श्रीवास्तव, डॉ अवनीश पांडेय,* *शिवराम शर्मा,कृष्ण कुमार अग्रहरि,राकेश वर्मा,आलोक पांडेय,रोहित त्रिपाठी, सोमेश्वर पति त्रिपाठी,मनीष शर्मा,सोना द्विवेदी,रामलाल साहनी आदि लोग उपस्थित रहें।*

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad