धरती पर मौजूद इस गांव का है अपना 'अलग सूरज' - Ideal India News

Post Top Ad

धरती पर मौजूद इस गांव का है अपना 'अलग सूरज'

Share This
#IIN





धरती पर ऐसी कई जगहें इसानों की आबादी हैं, जिसके बारे में सोचकर भी किसी को हौरानी होती है. अमेरिका की डेथ वेली हो या सहारा के रेगिस्तान इन दोनों गर्म जगहों पर भी इंसान ने रहना सीख लिया है और वो कई सालों से रहता हुआ आया है. तो कही पर इंसान पहाड़ों की तलहटी ने बीच रहता है और ऐसी ही एक जगह है विगानेला.

इटली के मिलान शहर में 130 किमी उत्तर में स्थित विगानेला एक गहरी घाटी के नीचे स्थित है और वो पूरी तरह से पहाड़ियों से घिरा हुआ है. पहाड़ियों के कारण गर्मियों के दिनों में भी वहां पर जल्द ही शाम हो जाती है और शर्दियों के दिनों में हालात बद से बदतर हो जाते हैं. नवंबर से लेकर फरवरी तक यहां पर सूर्य की किरणें नहीं आ पाती थी.

विगानेला की आदाबी करीब 200 की है और गांव के लोगों का मानना है कि यहां पर 11 नवंबर के आसपास सूरज गायब हो जाता है और 2फरवरी से पहले वो दिखाई नहीं देता है. गांव वालों का मानना है कि यह स्थिति बिल्कुल साइबेरिया जैसी होती है.

इस गांव में लोग सदियों से रहते आए हैं और उन्होंने इसे अपना भाग्य मानकर स्वीकार कर लिया था. लेकिन फिर कुछ स्थानियों इंजीनियर और वास्तुकार ने शानदार उपाय खोजा. उन्होंने पहाड़ी की चोटि पर एक विशाल सीसा लगाते की सोची जिसके गांव में धूप को प्रतिबिंबित किया जा सके.




No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad