अपराधियों को सजा दिलाने तक समाज चुप नहीं बैठने वाला - Ideal India News

Post Top Ad

अपराधियों को सजा दिलाने तक समाज चुप नहीं बैठने वाला

Share This
#IIN
Dr US Bhagat Varanasi
#वाराणसी


अपराधियों को सजा दिलाने तक समाज चुप नहीं बैठने वाला.....
पिछले महीने की 14 अगस्त को वाराणसी के जंसा थाना अंतर्गत हाथी बाजार में हुई घटना को लेकर हमेशा की सुरक्षा और उनकी संरक्षण के सवाल पर चिंतित जायसवाल सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बृजेश जायसवाल जी के निर्देश पर जायसवाल सेना की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती रोशनी कुशल जायसवाल के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल आज दुबारा पीड़ित जायसवाल परिवार से मिलकर होने वाली कानूनी कार्यवाही और गिरफ्तारियों के सम्बन्ध और उनकी सुरक्षा व्यवस्था की जमीनी हकीकत जानकर राष्ट्रीय अध्यक्ष को इस सम्बन्ध में अवगत कराना था खास तौर महिलाओं के साथ हुई मारपीट और उस सम्बन्ध में हुई कितनी गिरफ्तारी हुई और कितने अभियुक्त अभी भी खुलेआम घूमकर कानून की धज्जियां उड़ाते हुए आराम से घूम रहे है,इस सम्बन्ध में रोशनी कुशल जायसवाल इस केस से सम्बन्धित बाकी अभियुक्तों की गिरफ्तारी को लेकर जंसा थाने पर पहुंची और मौके पर वर्तमान थानाध्यक्ष से अभियुक्तों की गिरफ्तारी और परिवार की सुरक्षा को लेकर अपनी बात रखी ।




 इसके बाद  परिवार को हरसंभव मदद का आश्वासन थाने द्वारा दिए जाने के बाद जायसवाल सेना का प्रतिनिधिमंडल परिवार को आश्वस्त किया कि भविष्य में किसी भी प्रकार की परेशानी हो तुरन्त एक फोन करिए जायसवाल सेना और जायसवाल समाज आपके मान सम्मान की रक्षा के लिए खड़ा रहेगा । अपराधियों को उनकी सजा दिलाने तक समाज चुप नहीं बैठने वाला । रोशनी जायसवाल ने परिवार के सभी सदस्यों से घटना की विस्तृत जानकारी परिवारजनों से ली है ।
जैसा आप सबको ज्ञात ही है कि विगत 14 अगस्त को वाराणसी जनपद के थाना जंसा के हाथी बाजार निवासी श्री माताप्रसाद जायसवाल तथा उनके परिवार के एक दर्जन से अधिक सदस्यों की गांव के ही दंबग लोगों ने लामबंद होकर लाठी-डंडों, लोहे की रॉड आदि से जमकर पिटाई की जिससे जायसवाल परिवार के कई सदस्य मरणासन्न स्थिति में पहुंच गए थे। हमलावरों ने स्थानीय पुलिस से सांठगांठ कर यह वारदात दिनदहाड़े की थी। जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर गांव के लोगों द्वारा डाला गया था। इस संबंध में पीड़ित श्री माता प्रसाद के बेटे द्वारा पुलिस में अभियोग पंजीकृत कराया गया । अपराध संख्या 170/2020, धारा 147, 148, 307, 323, 336 , 352, 452, 504, 506 आईपीसी व सेक्शन 7 क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट के तहत अभियोग दर्ज कराया गया। इस संबंध है  पुलिस पर काफी दबाव डालने के बाद, चार अभियुक्त गिरफ्तार किए गए, जबकि नामजद अभियुक्तों में से एक  अभियुक्त अभी भी फरार है ।उस पर ₹25000 का इनाम पुलिस द्वारा घोषित किया गया है। जायसवाल सेना के साथ साथ कई संगठनों और समाज के कई बड़े नेताओं के काफी हस्तक्षेप के बाद जंसा थाने के थानाध्यक्ष आशीष भदौरिया और एक उप निरीक्षक को अभियुक्तों से सांठगांठ करने के आरोप में वाराणसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा निलंबित किया जा चुका है। इस मामले में गिरफ्तार  छः अभियुक्तों की जमानत अर्जी वाराणसी सत्र न्यायालय से  खारिज कराई जा चुकी है। इसमें वाराणसी के स्वजातीय अधिवक्ताओं और वाराणसी जायसवाल समाज के विभिन्न संगठनों व अनेक प्रतिष्ठित पदाधिकारियों ने काफी सहयोग किया है, इन सभी का जायसवाल सेना ह्रदय से अभिनंदन करती है ।
रोशनी कुशल जायसवाल के साथ प्रतिनिधिमंडल में समाजसेवी आनंद जायसवाल,कुशल जायसवाल,भोलू भाई इत्यादि लोग शामिल रहे ।
#जायसवालसेना

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad