*ईओ तंबौर ने नगर पंचायत अध्यक्षा व उनके पति के विरुद्ध लिखा पत्र, सरकारी कामकाज में बाधा का आरोप - Ideal India News

Post Top Ad

*ईओ तंबौर ने नगर पंचायत अध्यक्षा व उनके पति के विरुद्ध लिखा पत्र, सरकारी कामकाज में बाधा का आरोप

Share This
#IIN
*ईओ तंबौर ने नगर पंचायत अध्यक्षा व उनके पति के विरुद्ध लिखा पत्र, सरकारी कामकाज में बाधा का आरोप*

*पूर्व लिपिक सुबहान अली पर भी गंभीर आरोप*

सीतापुर-         शरद कपूर
नगर पंचायत तंबौर की अध्यक्षा, उनके प्रतिनिधि पति एवं पूर्व लिपिक पर गंभीर आरोप लगाते हुए अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत तंबौर उमेश कुमार सिंह ने स्थानीय निकाय को पत्र लिखकर प्रशासक नियुक्ति करने की संस्तुति की है | प्रेषित पत्र में सरकारी कामकाज में बाधा उत्पन्न करने सहित कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं |
             यहां पर यह भी बताते चलें कि नगर पंचायत तंबौर की अध्यक्षा शहनाज बेगम व उनके प्रतिनिधि पति झब्बन बेग की कार्यशैली शुरू से ही विवादित रही है, अपने गठन काल से ही नगर पंचायत तंबौर में ईओ व अध्यक्षा प्रतिनिधि पति झब्बन बेग में बत्तीस का आंकड़ा रहा है और यह सब झब्बन बेग की विवादित कार्यशैली का ही परिणाम है | झब्बन बेग अपनी पत्नी की जगह स्वयं को नगर पंचायत अध्यक्ष मानते हैं, यहां तक की बोर्ड बैठक के दौरान भी झब्बन बेग बैठक में हिस्सा ही नहीं लेते वरन् सरकारी कार्यों में अपना पूरा हस्ताक्षेप करते रहते हैं | जिसका समय-समय पर विरोध भी होता रहा है, नगर पंचायत के चयनित व नामित सभासदों ने झब्बन बेग की कार्यशैली पर कई बार प्रश्नचिन्ह भी लगाएं हैं | परन्तु अपनी हठधर्मिता के चलते झब्बन बेग नगर पंचायत तंबौर में अपना एकाधिपत्य समझते हैं और विवाद का यही कारण भी है |
         नगर पंचायत तंबौर के अधिशासी अधिकारी उमेश कुमार सिंह ने प्रभारी अधिकारी स्थानीय निकाय को इन्हीं सब आरोपो से अवगत कराते हुए पत्र लिख कर नगर पंचायत तंबौर में प्रशासक नियुक्ति करने की संस्तुति की है | ईओ ने प्रेषित पत्र में झब्बन बेग के साथ ही पूर्व लिपिक सुबहान अली की कार्यशैली को भी संदिग्ध मानते हुए इनके विरूद्ध कानूनी कार्रवाई करते हुए राजस्व वसूली की संस्तुति की है |
           इस संबंध में नगर पंचायत तंबौर की अध्यक्षा शहनाज बेगम के स्थान पर उनके पति झब्बन बेग का ही बयान सामने आया है, झब्बन बेग का कथन है कि ईओ जनहित के कार्यों की अनदेखी कर रहे हैं, ऐसे में न तो कस्बे में सफाई हो पा रही है ना विकास के कोई काम हो पा रहे हैं | ईओ उन पर दबाव बनाने के लिए फर्जी शिकायतें करते रहते हैं |
       प्रभारी निकाय अधिकारी पूजा मिश्रा का इस संबंध में कहना है कि मामला संज्ञान में आया है, जिसकी विधवत जाँच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है |
        यहां पर यह भी ज्ञात रहे कि इससे पूर्व ऐसा ही कुछ मामला नगर पालिका परिषद मिश्रिख का सामने आया था, जहां के अधिशासी अधिकारी ने अध्यक्षा के पति पर सरकारी कार्यों में दखल देने के आरोप लगाते हुए प्रभारी अधिकारी स्थानीय निकाय को पत्र लिखकर शिकायत की थी |

*शरद कपूर*
  *सीतापुर*

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad