ये है भारत का सबसे पढ़ा लिखा इंसान - Ideal India News

Post Top Ad

ये है भारत का सबसे पढ़ा लिखा इंसान

Share This
#IIN


कुछ बच्चे स्कूल (School) का नाम सुनते ही रोने लगते हैं, उनका पढ़ने लिखने का मन नहीं करता. लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं जो पढ़ने के नाम पर इतने खुश हो जाते हैं कि तमाम डिग्रियां हासिल करने के बाद भी उनका दिल नहीं भरता और वो आगे भी अपनी पढ़ाई जारी रखते हैं. आज हम भारत के एक ऐसे ही इंसान के बारे में बताने जा रहे हैं जो देश के सबसे पढ़े-लिखे इंसान माने जाते हैं. उन्होंने दुनिया की तमाम यूनिवर्सिटीज से 20 डिग्रियां हासिल की. ऐसा माना जाता है कि भारत में उनसे ज्यादा पढ़ा लिखा और कोई नहीं हुआ.
दरअसल, भारत में सबसे ज्यादा पढ़े लिखे शख्स का रिकॉर्ड श्रीकांत जिचकर (Shrikant Jichkar) के नाम है. श्रीकांत जिचकर का जन्म 14 सितंबर 1954 को महाराष्ट्र के नागपुर में हुआ था. वह एक राजनेता भी थे. उन्होंने अपनी राजनीति की शुरुआत यूनिवर्सिटी स्टूडेंट काउंसिल से की थी और 25 साल की उम्र में ही विधानसभा चुनाव जीतकर विधायक बन गए थे. बाद में उन्हें मंत्री भी बनाया गया. यही नहीं बाद में उन्होंने लोकसभा लड़ा और जीतकर संसद भी पहुंचे.
बताया जाता है कि उन्होंने 42 विश्वविद्यालयों में पढ़ाई की थी और 20 डिग्रियां हासिल की थी. एक रिपोर्ट के मुताबिक, उनमें से ज्यादातर डिग्रियां फर्स्ट क्लास (First Division) की थीं या उन्होंने उनमें गोल्ड मेडल हासिल किया था. उनके पास एमबीबीएस से लेकर एलएलबी (), एमबीए और जर्नलिज्म (Journalism) तक की डिग्री थी. उन्होंने पीएचडी भी की थी. इसके अलावा उन्होंने अलग-अलग विषयों में कई बार एमए (MA) किया था.
श्रीकांत जिचकर ने देश की सबसे कठिन मानी जाने वाली यूपीएससी परीक्षा भी पास की थी. उसके बाद वह आईपीएस अधिकारी भी बने थे. हालांकि उन्होंने जल्द ही त्यागपत्र दे दिया था. आईपीएस के अलावा दोबारा यूपीएससी की परीक्षा देकर वह आईएएस भी बने थे, लेकिन चार महीने नौकरी करने के बाद उन्होंने उस पद से भी त्यागपत्र दे दिया था और राजनीति में आ गए. कहा जाता है कि श्रीकांत को पढ़ाई करने का इतना शौक था कि उन्होंने अपने घर में एक बड़ी सी लाइब्रेरी बना ली थी, जिसमें 50 हजार से भी अधिक किताबें थीं.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad