अगस्त महीने से घट जाएगी इन हैंड सैलरी - Ideal India News

Post Top Ad

अगस्त महीने से घट जाएगी इन हैंड सैलरी

Share This
#IIN



नई दिल्ली
 कोरोना वायरस महामारी के समय में कर्मचारी तक अधिक इन हैंड सैलरी पहुंचाने के उद्देश्य से सरकार ने पीएफ से जुड़ी राहत भरी घोषणा की थी। सरकार ने नियोक्ताओं और कर्मचारियों को राहत देते हुए मई, जून और जूलाई तीन महीने तक कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) योजदान में 4 फीसद की कटौती की घोषणा की थी। सरकार द्वारा किये गए इस राहत उपाए की अवधि खत्म हो रही है और अगस्त महीने से अब फिर से कर्मचारी व नियोक्ता को 12-12 फीसद पीएफ योगदान देना होगा।
गौरतलब है कि मई महीने की शुरुआत में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ईपीएफ योगदान में तीन महीने तक 4 फीसद कटौती की घोषणा की थी। इसके परिणामस्वरूप करीब 6.5 लाख कंपनियों के कर्मचारियों को हर महीने 2,250 करोड़ रुपये की लिक्विडिटी का फायदा मिला। नियम के अनुसार, कर्चमारी और नियोक्ता को मिलकर कर्मचारी की बेसिक सैलरी+डीए का 12-12 फीसद अर्थात कुल 24 फीसद राशि हर महीने पीएफ योगदान के रूप में जमा करानी होती है। वित्त मंत्री की घोषणा के बाद इस योगदान में तीन महीने तक कुल 4 फीसद की छूट मिली, जिसमें 2 फीसद कर्मचारी के योगदान से और 2 फीसद नियोक्ता के योगदान से है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad