*बिसवां में नए कोतवाल प्रभारी के समक्ष हैं कई चुनौतियां* - Ideal India News

Post Top Ad

*बिसवां में नए कोतवाल प्रभारी के समक्ष हैं कई चुनौतियां*

Share This
#IIN
*बिसवां में नए कोतवाल प्रभारी के समक्ष हैं कई चुनौतियां*

शरद कपूर/आलोक अवस्थी

 बिसवां सीतापुर जनपद की कानून व्यवस्था को अधिक मजबूत करने के लिए आरक्षी मुखिया आरपी सिंह ने बीते सोमवार को बड़ा फेरबदल किया । जनपद के कई थानेदारों के कार्य क्षेत्र में व्यापक स्तर पर बदलाव किया गया । पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह द्वारा किए गए फेरबदल में बिसवां कोतवाली में तैनात प्रभारी निरीक्षक बृजेश राय को हटाकर रामकोट की जिम्मेदारी मिली। वहीं मिश्रिख कोतवाली में तैनात प्रभारी निरीक्षक इंद्रजीत सिंह को बिसवा प्रभार की जिम्मेदारी दी गई । नवागत प्रभारी निरीक्षक इंद्रजीत सिंह ने बिसवां नगर की कमान संभाल ली । गौरतलब हो कि अपनी तेजतर्रार कार्यशैली के चलते बृजेश कुमार राय ने बहुत कम ही समय में नगर के अंदर व आसपास के ग्रामीण अंचलों में कच्ची शराब से लेकर नगर में बड़े पैमाने पर होने वाले स्मैक के बड़े कारोबार को बंद करा दिया था । जिससे आमजन के अनुसार अन्य पूर्व अधिकारियों की तैनाती में संभव नहीं हो पाया था । उनके इस कार्य के चलते बहुत ही कम समय में आमजन में लोकप्रिय हुए बृजेश राय का रामकोट हुए स्थानांतरण से आमजन अवाक रह गया । वही मिश्रिख से आए नवागत प्रभारी निरीक्षक इंद्रजीत सिंह के सामने इस इस्तकबाल को कायम रखना बड़ी चुनौती तो नहीं कहा जा सकता लेकिन आमजन इसे चुनौती के रूप में देख रहा है । नगर एवं आसपास के क्षेत्रों में बहुत ही कम समय में कानून व्यवस्था को सुद्धरण कर बृजेश राय जी ने जो वाहवाही लूटी थी उसको बनाए रखना नए इंस्पेक्टर के लिए किसी पहेली से कम नहीं होगी । बताते चलें कि नगर में स्मेक, जुए के फड़, छेड़खानी जैसी घटनाओं पर लगाम लगाते हुए नगर से सटे गांव हुलासपुरवा, ईदगाह पुरवा में बनने वाली कच्ची शराब को बंद कराकर जहां पूर्व प्रभारी निरीक्षक ने कानून का राज स्थापित किया था वही उनके स्थानांतरण के बाद आमजन में इस बात की गुफ्तगू सुनने को मिल रही है कि नए प्रभारी निरीक्षक क्या इन सब पर अंकुश लगाने में कामयाब रहेंगे या फिर इस तरह के असंवैधानिक कार्य पुनः संचालित होने शुरू होंगे । फिलहाल नवागत प्रभारी इंद्रजीत सिंह के सामने कुछ पुरानी घटनाओं के खुलासे एवं आगे आने वाली कानून व्यवस्था से सम्बंधित चुनौतियां मुंह बाए खड़ी हैं। जिससे निपटने के लिए वह किस तरह की रणनीति अख्तियार करेंगे यह तो आगे भविष्य में देखने को मिलेगा ।

*शरद कपूर / आलोक अवस्थी*
   *सीतापुर*

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad