श्रीलंका में महामारी के बीच 70 फीसद मतदान - Ideal India News

Post Top Ad

श्रीलंका में महामारी के बीच 70 फीसद मतदान

Share This
#IIN




कोलंबो
 श्रीलंका में बुधवार को फेस मास्क पहने और पेन लिए लोगों की लंबी लाइनें लगीं। कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में ये लोग संसदीय चुनाव के लिए मतदान करने आए थे। महामारी के खतरे के बीच लोगों ने मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। 70 प्रतिशत से ज्यादा मतदान होने की खबर है। राजनीतिक दलों के बीच मतभेद के चलते पूर्व में दो बार स्थगित हो चुका चुनाव अब हो रहा है। चुनाव में सत्तारूढ़ राजपक्षे परिवार की श्रीलंका पीपुल्स पार्टी का पलड़ा भारी नजर आ रहा है।
राष्ट्रीय चुनाव आयोग के प्रमुख महिंदा देशप्रिया के अनुसार महामारी के खतरे के बावजूद लोगों ने मतदान में उत्साह दिखाया और 70 प्रतिशत से ज्यादा मत पड़े। अंपारा में 72.8 प्रतिशत, किलीनोच्चि में 71.52 प्रतिशत, मन्नार में 79.49 प्रतिशत, त्रिंकोमाली में 73.5 प्रतिशत और बट्टीकलोआ में 76.15 प्रतिशत रिकॉर्ड मतदान हुआ। पूरा मतदान शांतपूर्ण रहा। कहीं से किसी हिंसक वारदात की खबर नहीं है। परिणामों की घोषणा गुरुवार शाम तक हो जाएगी।
राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने कहा है कि श्रीलंका दक्षिण एशिया में अकेला देश है जिसने कोविड महामारी के बावजूद अपनी लोकतांत्रिक परंपरा को कायम रखा और चुनाव कराए। गोटाबाया ने कोलंबो में मतदान किया जबकि उनके बड़े भाई और निवर्तमान प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने अपने चुनाव क्षेत्र हंबनटोटा में वोट डाला। महिंदा राजपक्षे ने दो तिहाई बहुमत से जीत का दावा किया है। श्रीलंका में राजनीतिक दलों के बीच के मतभेदों से ये चुनाव निर्धारित समय से तीन महीने बाद हो रहे हैं। चुनाव पर्यवेक्षकों के अनुसार कुछ स्थानों पर फर्जी मतदान की शिकायतें मिली हैं लेकिन हिंसा कहीं नहीं हुई।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad