आईजी के निर्देश पर प्राथमिकी, घूम रहे 308 के आरोपी - Ideal India News

Post Top Ad

आईजी के निर्देश पर प्राथमिकी, घूम रहे 308 के आरोपी

Share This
#IIN



Santosh Agarhari and Vijay Agarwal 
जौनपुर
 सरायख्वाजा थाना क्षेत्र में चोरी, मारपीट आदि घटनाओं की प्राथमिकी दर्ज न कर पुलिस मनमानी करती है। थाने की मनमानी का आलम यह है कि बड़ी घटनाओं में पीड़ित थाने से लेकर पुलिस अधीक्षक तक रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए जी जान लगा देते है लेकिन उन्हे सफलता नहीं मिलती। अब तक कई अहम मामलों में पुलिस महानिरीक्षक वाराणसी के निर्देश पर मुकदमा इस थाने पर कायम किया गया लेकिन गिरफतारी नहीं गयी और आरोपियों को खुला छोड़ दिया गया है। एक मामले में डकैती का मुकदमा पुलिस महानिरीक्षक के आदेश पर दर्ज हुआ लेकिन अभी तक न तो किसी को पुलिस ने पकड़ा न मोटर साइकिल की बरामदगी दिखाई गयी जबकि पीड़ित की बाइक शिकारपुर पुलिस चैकी पर बरामद कर खड़ी की गयी है। आरोपी खुलेआम घूम रहे है। ताजा मामला यह है कि थाना सरायख्वाजा क्षेत्र के करंजाकला निवासी धीरज पुत्र झगड़ू सोनकर, टकालू पुत्र ललई सोनकर, पिण्टू पुत्र अच्छेलाल, कल्लू पुत्र सुबास, जिलाजीत पुत्र रााम आसरे रूदल पुत्र विल्लर क्रिकेट खेलने व पुरानी रंजिश को लेकर बीते आठ अगस्त को लाठी राड व तलवार से अजय कुमार को मारने लगे उन्हे बचाने बसन्त विजय कुमार पहुंचे तो अजय जान बचाकर भाग निकला लेकिन विजय व बसन्त कुमार बरी तरह से पीटकर सर फाड़ दिया। सिर में 19 टाके लगाये गये है। पुलिस ने उस दिन महज एनसीआर दर्ज कर लिया। इसके बाद थाने से लेकर उच्चाधिकारियों के यहां प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पीड़ित गणेश परिक्रमा करता रहा लेकिन सुनवाई नहीं तो पीड़ित पुलिस महानिरीक्षक के यहां पहुंचा तो धारा 308,504,506 व अन्य सुसंगत धाराओं में प्राथमिकी थाने पर दर्ज की गयी लेकिन कई दिन बीम जाने के बाद पुलिस अब अभियुक्तो को गिरफतार नहीं कर रही है और वे लोग फिर से हमले की धमकी दे रहे है। यदि इस मामले का पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया तो हत्या होने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad