मुझे नौकरी पाने पर उतनी खुशी नहीं हुई थी जितना कि राम मंदिर शिलान्यास पर –डॉ0 अमलेंद्र गुप्ता - Ideal India News

Post Top Ad

मुझे नौकरी पाने पर उतनी खुशी नहीं हुई थी जितना कि राम मंदिर शिलान्यास पर –डॉ0 अमलेंद्र गुप्ता

Share This
#IIN


 Javed Alam and Rajesh kumar Gupta
जौनपुर - खेतासराय
राम मंदिर भूमिपूजन शिलान्यास पर भारत के ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के राम भक्तों में खासा उत्साह और खुशी देखने को मिल रहा है देश सहित विदेशों में भी लोग राममय हो गए हैं करोड़ों राम भक्तों की आस्था का केंद्र अयोध्या में श्री राम मंदिर शिलान्यास होते ही राम भक्त पुलकित हो उठे, मानो उन्हें संसार की सारी खुशियां मिल गई।

5 अगस्त वह ऐतिहासिक दिन रहा जिसका इंतजार करोड़ो राम भक्तों को वर्षों से रहा।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर 492 साल का लंबा इंतजार खत्म हुआ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 5 अगस्त को संघ प्रमुख मोहन भागवत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया गया।

यह वह ऐतिहासिक दिन है जिसे इतिहास के पन्नों में लिखा जाएगा यूं कहें कि राम भक्तों के लिए स्वर्णिम युग का आरंभ हो गया हो खासकर जौनपुर जिले के राम भक्त 5 अगस्त को फूले न समाए ऐसे में खेतासराय नगर पंचायत के निवासी डॉ0 अमलेंद्र गुप्ता राम मंदिर से जुड़ी आंदोलन और घटनाओं को बताते हुए भावुक हो गए और उन्होंने कहा कि मुझे अपनी जीवन की सबसे बड़ी खुशी मिली है मुझे नौकरी पाने पर भी इतनी खुशी नहीं मिली थी जितनी कि आज राम मंदिर शिलान्यास पर मिली है।

आपको बता दें कि डॉ अमलेंद्र गुप्ता प्राथमिक विद्यालय के अध्यापक हैं इनके पिता स्वर्गीय किशोरी लाल गुप्त खेतासराय नगर पंचायत के पूर्व सरपंच थे।

किशोरी लाल गुप्त विश्व हिंदू परिषद की एकात्मता यात्रा से लेकर समय-समय पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ,बजरंग दल जैसे हिंदू संगठन की अगुवाई में हिंदू समाज को जागृत करने में अपना संपूर्ण जीवन समर्पित कर दिया।

खेतासराय जैसे नगर में जन्म लेने के उपरांत कई धार्मिक संस्थाओं की स्थापना की जिसमें खेतासराय में सन 1980 से दुर्गा पूजा की शुरुआत मानस सम्मेलन की अगुवाई सावन मास की कांवर शोभायात्रा जैसे दर्जनों समितियों को अपना समय और योगदान देकर अपना हिंदू जीवन सार्थक किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad