विशेषज्ञों ने कहा मास्क लगाने वालों से दूर रहता है कोरोना - Ideal India News

Post Top Ad

विशेषज्ञों ने कहा मास्क लगाने वालों से दूर रहता है कोरोना

Share This
#IIN




वैज्ञानिकों ने पाया है कि कोरोनावायरस से बचने के लिए पहनने वाले मास्क कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में काफी सहायक होते हैं। यदि कोई मास्क नहीं लगाता है तो उससे संक्रमण फैलने की संभावना अधिक रहती है।
कोरोनावायरस महामारी के दौरान अधिकतर लोग इन्हीं चीजों पर बात कर रहे हैं। मगर अब जैसे-जैसे देश भर में कोरोनावायरस के मामले बढ़ रहे हैं, वैसे-वैसे विशेषज्ञ इस बात के प्रमाणों की ओर इशारा कर रहे हैं कि मास्क पहनने वाले लोग संक्रमण के कम शिकार हो रहे हैं जबकि मास्क न पहनने वाले इसके अधिक शिकार हो रहे हैं। मास्क कहीं न कहीं से कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने का पुख्ता काम करता है। ये ऐसे संक्रमित वायरसों को पूरी तरह से रोकने में कामयाब रहता है।
कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, सैन फ्रांसिस्को में एक संक्रामक रोग चिकित्सक डॉ. मोनिका गांधी ने कहा कि विभिन्न प्रकार के मास्क वायरस को एक स्थान तक रोकते हैं मगर यदि उसके बाद भी ये किसी के शरीर में पहुंच जाते हैं तो वो गंभीर बीमारी का रूप ले सकता है। गांधी और उनके सहयोगियों ने जनरल इंटरनल मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित होने वाले एक नए शोधपत्र में यह तर्क दिया है।
वैज्ञानिकों का कहना है कि यदि कोई अपना चेहरा मानकों के हिसाब से ढंके रखता है तो उसे कोरोना वायरस से संक्रमित होने के चांस कम हो जाएंगे। यदि लोग मास्क का उपयोग करेंगे और सेनिटाइजर लगाएंगे तो वायरस के संक्रमण का चांस कम हो जाएगा, इस वजह से इनका पालन किया जाना जरूरी है। यदि लोग संक्रमण फैलाने से रोकने में मदद करना चाहते हैं तो उनको खुद भी इसका पालन करना होगा। कई लोगों का ये भी तर्क रहता है कि वो किसी संक्रमित के पास जा नहीं रहे हैं तो उनको मास्क पहनने की कोई जरूरत नहीं है, कई बार इसी वजह से वो संक्रमण का शिकार हो जाते हैं। 
कोलंबिया विश्वविद्यालय के एक आपातकालीन चिकित्सक डॉ. कत्सियन फायरव ने आगाह किया कि मास्क पहनना कोई ऐसा वैसा काम नहीं है ये वायरस के संक्रमण से फैलने में रोकने में सहायता करना है बल्कि इसे एक पुनीत कार्य माना जाएगा। जो लोग मास्क पहनकर निकल रहे हैं वो वायरस के फैलाव को रोकने में मदद कर रहे हैं। 
शोधकर्ताओं का कहना है कि लगभग 40 फीसद लोगों में कोरोनावायरस संक्रमण का कोई भी लक्षण नहीं दिखता है मगर वो भी किसी न किसी के संपर्क में आने की वजह से ही संक्रमित होते हैं। दुनिया भर में जब कोरोनावायरस के संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हुई और रिसर्च की गई तो ये बातें निकल कर सामने आई। पाया गया कि कई लोग जो न तो घर से बाहर गए न ही किसी भीड़भाड़ वाली जगह पर न गए मगर फिर जब उनकी जांच की गई तो वो पॉजिटिव पाए आए। ऐसे में ये निष्कर्ष निकाला गया कि इन लोगों ने किसी भी अनजान आदमी के सामने आऩे पर मास्क नहीं लगाया होगा जिसकी वजह से ये इस वायरस के संक्रमण में आए।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad