दिग्विजय बोले, गांधी परिवार के बिना कांग्रेस नहीं - Ideal India News

Post Top Ad

दिग्विजय बोले, गांधी परिवार के बिना कांग्रेस नहीं

Share This
#IIN


रायपुर
अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के बुधवार अचानक छत्तीसगढ़ दौरे से राज्य का सियासी पारा चढ़ गया। दिग्विजय प्रदेश में सिर्फ 13 घंटे रहे, लेकिन अलग-अलग कयास लगाए जाने लगे हैं। कांग्रेस नेताओं के सामंजस्य से लेकर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के कांग्रेस में विलय तक की चर्चा सियासी गलियारे में चल रही है। भोपाल रवाना होने से पहले सिंह ने मीडिया से चर्चा में कहा कि गांधी परिवार के बिना कांग्रेस को नहीं देखा जा सकता है।
वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता (Digvijaya Singh) ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल ही लड़ सकते हैं। दरअसल, कांग्रेस की अंतरिम राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी का कार्यकाल 10 अगस्त को पूरा हो रहा है। सिंह के दौरे को कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष की नियुक्ति से भी जोड़कर देखा जा रहा है। इससे पहले सिंह कांग्रेस के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, मंत्री टीएस सिंहदेव से 13 घंटे में साढ़े चार घंटे चर्चा की। इस चर्चा के बाद गुरुवार सुबह सिंह पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी को श्रद्धांजलि देने सागौन बंगले पहुंचे।
सिंह की जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष अमित जोगी ने अगवानी की और दोनों के बीच करीब आधे घंटे तक चर्चा हुई। सिंह के सागौन बंगले से लौटने के बाद अमित ने एक ट्वीट किया। इस ट्वीट के भी कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। अमित ने लिखा-पापा के पांच दशकों से अभिन्न मित्र रहे मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने रायपुर निवास में मुझे सांत्वना दी। पापा के जाने के बाद ऐसे चुनिंदा व्यक्ति बचे हैं, जो मेरा मार्गदर्शन कर सकते हैं। दिग्विजय अंकल, जिन्होंने अपने जीवन में सदैव संबंधों को राजनीति से अधिक महत्व दिया, उनमें से एक हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad