मृत्यु प्रमाण पत्र दो माह बाद वाट्सएप से आया - Ideal India News

Post Top Ad

मृत्यु प्रमाण पत्र दो माह बाद वाट्सएप से आया

Share This
#IIN


Sanjaye Pandey and Manoj Pandey 
 आजमगढ़
 सऊदी में एक व्यक्ति की हुई मौत की खबर देने की बजाए मंगलवार की रात उसका मृत्यु प्रमाण उसके बेटे के वाट्सएप पर भेज दिया गया। मृत्यु प्रमाण देख परिवार में कोहराम मच गया। पत्नी ने हत्या की आशंका जताते हुए शव को घर पर लाने के लिए एसडीएम को प्रार्थना पत्र देकर गुहार लगाई है।
जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के सुखमदत्त नगर गांव निवासी राजबली (50) सऊदी में काफी अर्से से वाहन चलाते थे। स्वजनों का कहना है कि इधर दो वर्ष पूर्व घर से सऊदी गए हुए थे। राजबली से स्वजनों की 12 मई को फोन पर बात हुई तो वे पूरी तरह से स्वस्थ थे। इसके बाद से उनसे बात नहीं हुई। स्वजनों ने जब भी बात करने का प्रयास किया तो कंपनी के मालिक बार-बार यहीं कहते थे कि घबराने की जरुरत नहीं है, वे पूरी तरह ठीक हैं। मंगलवार की रात सऊदी से रामबली के बेटे बबलू के वाट्सएप पर मृत्य प्रमाण पत्र आया। मृत्यु प्रमाण पत्र देख बेटा सन्न रह गया। रामबली की मौत की खबर से परिवार में कोहराम मच गया। बेटे का कहना है कि प्रमाण पत्र को जब उसने ध्यान से देखा तो उस पर उसके पिता की मौत की तिथि 23 मई अंकित है। वहीं प्रमाण पत्र पर मौत का कारण आत्महत्या दर्शाया गया है। रामबली की पत्नी लालती देवी ने कहा कि उसके पति के मौत की कोई सूचना नहीं दी गई। मौत के दो माह बाद वाट्सएप से मृत्यु प्रमाण पत्र भेज दिया गया। पति की हत्या की आशंका जताने के साथ उसने भारतीय दूतावास के माध्यम से शव को घर मंगवाने के लिए एसडीएम सगड़ी से बुधवार को मिलकर प्रार्थना पत्र दिया। रामबली के दो पुत्र व दो पुत्रियां हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad