जनपद में संचालित स्वास्थ्य गतिविधियों पर बनाई रणनीति - Ideal India News

Post Top Ad

जनपद में संचालित स्वास्थ्य गतिविधियों पर बनाई रणनीति

Share This
#IIN



अजय मिश्रा


लोहरा उपकेन्द्र और अतरौलिया सीएचसी पर हुई निगरानी समिति की बैठक
आजमगढ़, 18 जुलाई 2020
अतरौलिया सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) और अतरौलिया सीएचसी के तहत ही लोहरा उपकेन्द्र पर हुई निगरानी समिति की बैठक में कोविड 19 के प्रोटोकॉल, संचारी रोग उन्मूलन, दस्तक अभियान, आपातकाल में भी परिवार नियोजन संशाधनों की उपलब्धता कराने पर चर्चा की गयी।
अतरौलिया सीएचसी के प्रभारी चिकित्साधीक्षक (एमओआईसी) डॉ शिवाजी सिंह का कहना है कि यह बैठक विशेष रूप से मच्छरजनित बीमारियों और मौसमी बीमारियों से लोगों को जागरूक करने के लिए है। इसके लिए लोगों को मच्छरदानी का प्रयोग करने, आसपास साफ-सफाई रखने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। लोगों को डेंगू, चिकनगुनिया आदि के लक्षणों की जानकारी देकर उन्हें सतर्क किया जा रहा है।
अतरौलिया के ब्लाक सामुदायिक प्रक्रिया प्रबंधक (बीसीपीएम) सुरेश पांडे ने बताया कि इस समय संचारी रोग नियंत्रण अभियान के तहत लोगों को लंबे समय से एकत्र पानी का निस्तारण करने और साफ-सफाई के बारे में जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि परिवार कल्याण का संदेश वाहन चलने वाला है। यह वाहन 20 गांवों में जाएगा। यह वाहन पब्लिक के बीच परिवार कल्याण के साधनों तथा परिवार नियोजन के बारे में जानकारी देगा। यह कार्यक्रम जनसंख्या नियंत्रण में मददगार होगा। जिन गांवों में यह वाहन जाएगा वहां की आशा कार्यकर्ता लोगों को वहां इकट्ठा करेंगी। वैन में वीडियो के माध्यम से परिवार नियोजन के बारे में बताया जाता है।
आशा संगिनी कंचन पांडेय ने आशा कार्यकर्ताओं से कहा कि जब भी आप गृह भ्रमण पर जाएं तो कोविड-19 के प्रोटोकॉल का जरूर ध्यान रखें। लोगों से कम से कम एक गज की दूरी बनाए रखें। घर से निकलें तो मास्क जरूर लगाए रखें। किसी के घर की कुंडी न छुएं। उसे आवाज देकर बुलाएं। लोगों को परिवार नियोजन के साधनों की उपलब्धता के बारे में बताएं। दस्तक अभियान के दौरान लोगों को बताएं संचारी रोग किसी माध्यम से फैलता है। जहां पानी इकट्ठा होता है और गंदे स्थानों पर ही मच्छर के लार्वा फैलते हैं। इसलिए आसपास पानी न इकट्ठा होने दें और साफ-सफाई रखें। मच्छर दानी का प्रयोग करें और फुल आस्तीन के कपड़े पहनें।
 आशा संगिनी ने बताया कि दस्तक अभियान के दौरान आशा कार्यकर्ताओं को 14-15 घरों में सम्पर्क करना है। यह कार्यक्रम 14 दिन तक चलता है। शुक्रवार को लोहरा उपकेन्द्र पर तथा शनिवार को अतरौलिया सीएचसी पर बैठक हुई। लोहरा में प्रभारानी, पुष्पलता, लीलावती, रेखा, सावित्री पांडे और संगीता आशा कार्यकर्ता रहीं। वहीं अतरौलिया सीएचसी पर चार बैच में आशा संगिनियों ने आशा कार्यकर्ताओं की बैठक ली।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad