कोरोना से हिफाजत की उम्मीद में दरवाजों पर जलाए गए दीप - Ideal India News

Post Top Ad

कोरोना से हिफाजत की उम्मीद में दरवाजों पर जलाए गए दीप

Share This
#IIN
Ajay Mishra and Sarwesh Kumar Tiwari
आजमगढ़ : कोरोना से बचाव के लिए हर अस्त्र अपनाए जा रहे हैं। शुक्रवार की रात के नौ बजे होंगे कि अचानक आने लगे शुभचितकों के फोन। सवाल एक ही कि क्या घर के बाहर दीपक जला दिया। सलाह यह कि नहीं जलाया तो पुत्रों की संख्या के अनुसार घर दरवाजे पर दीपक जरूर जला दें। इससे घर के अंदर कोरोना वायरस का प्रवेश नहीं कर सकेगा। महिलाओं ने बिना किसी तर्क के दीपक जलाए तो पलक झपकते शहर में दीपावली के छंटा दिखने लगी। मार्टीनगंज : क्षेत्र के लगभग सभी गांवों में घी के दीपक जलाए गए। बस्ती कपूरी के प्रधान अलंकार ने बताया कि गांव में अचानक अफवाह फैली कि बच्चों को अगर कोरोना वायरस से बचाना है तो घर के दरवाजे के बाहर जितने बेटे हैं उनके नाम पर घी का दीपक जलाया जाएगा तो बच्चे कोरोना की चपेट में नहीं आएंगे। सुबह उन्हीं के नाम से नीम के पेड़ में जल देना है। इसके बाद तो किराना की दुकानों पर घी खरीदने वालों की लाइन लग गई। बहुत सी दुकानों पर घी खत्म हो गए तो लोगों ने पड़ोसियों से मांगकर काम चलाया। महिलाओं ने शुक्रवार की रात दुर्गा मंदिर व घर में रखे मां दुर्गा के चित्र के समीप पति व बेटों के नाम से दीप जलाए। रात में मोबाइल पर सूचना आई कि घर में जितने पुरुष हैं उनके नाम से आटा की दीया में देशी घी या तिल के तेल का दीपक जलाया जाए।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad