कमल नाथ के इस्तीफे के बाद शिवराज सिंह बोले, आंतरिक कलह की वजह से गिरी सरकार - Ideal India News

Post Top Ad

कमल नाथ के इस्तीफे के बाद शिवराज सिंह बोले, आंतरिक कलह की वजह से गिरी सरकार

Share This
#IIN
भोपाल। मध्य प्रदेश में आज सियासी भूचाल आ गया। मध्य प्रदेश में आज होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री कमल नाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। मध्य प्रदेश में सियासी संकट के बीच सीएम कमल नाथ ने अपना इस्तीफा देने का फैसला किया। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कर भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि प्रदेश की जनता ने मुझे पांच साल सरकार चलाने का बहुमत दिया था। लेकिन भाजपा ने प्रदेश की जनता के साथ धोखा दिया। लेकिन जनता उन्हें माफ नहीं करेगी।पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अगर मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार गिरी है तो उनकी आंतरिक कलह की वजह से गिरी है। उन्हें आत्ममंथन करना चाहिए कि यह स्थिति क्यों पैदा हुई है। - भोपाल में भाजपा कार्यालय में मिठाइयां बांटी गई। भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान, मध्य प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव और अन्य नेता इस दौरान उपस्थित रहे।
- भोपाल में विधानसभा में भाजपा विधायकों ने विजयी मुद्रा में अपने हाथ दिखाए। गौरतलब है कि कांग्रेस के कमलनाथ ने आज राज्य विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले राज्य के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। - भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान और पार्टी के अन्य नेता भोपाल स्थित पार्टी कार्यालय पहुंचे। कमलनाथ ने राज्य के मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच मध्य प्रदेश के निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल ने कमलनाथ के इस्तीफे की घोषणा के बाद कहा है कि मैंने कहा था कि जब तक कमलनाथ हैं, मैं उनका समर्थन करता रहूंगा। लेकिन मेरी प्राथमिकता मेरे निर्वाचन क्षेत्र के लोगों, उनके विकास और श्रमिकों का सम्मान है। मुझे लगता है कि अब नेतृत्व की अनुपस्थिति में यह संभव नहीं है।कमलनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि हमने हमने पहले दिन से काम शुरू कर दिया। किसानों की ऋण माफी के लिए कदम उठाया। शुद्ध का युद्ध, माफिया के खिलाफ अभियान शुरू किया। इसके अलावा भी कमल नाथ ने कई योजनाओं का जिक्र किया। मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि प्रदेश की जनता ने मुझे पांच साल सरकार चलाने का बहुमत दिया था। लेकिन भाजपा ने प्रदेश की जनता के साथ धोखा दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा शुरू से कहती आ रही है कि ये सरकार सिर्फ 15 दिन चलेगी।
- सीएम कमलनाथ ने कहा कि इस देश के लोग उस घटना के पीछे की सच्चाई देख सकते हैं जहां विधायकों को बेंगलुरु में बंधक बनाया जा रहा है...सच्चाई सामने आ जाएगी। लोग उन्हें माफ नहीं करेंगे।कमलनाथ ने कहा कि भाजपा पिछले 15 महीनों से सरकार गिराने की साजिश कर रही है। धोखा देने वालों को प्रदेश की जनता कभी भी माफ नहीं करेगी। महाराज के साथ मिलकर भाजपा ने जनता को धोखा दिया है। 
- फ्लोर टेस्ट से पहले एमपी के सीएम कमलनाथ ने कहा कि जनता ने हमें 5 साल का मौका दिया था। पिछले 15 महीनों में हमने काफी काम किया।मप्र विधानसभा अध्यक्ष ने समाचार एजेंसी एएनआइ को बताया कि मैंने कल रात 16 इस्तीफे स्वीकार किए थे। अब मैंने शरद कोल (भाजपा विधायक) का इस्तीफा भी स्वीकार कर लिया है। उन्होंने पहले कहा था कि उन्हें जबरदस्ती इस्तीफा देने के लिए बनाया गया था, लेकिन उनके दस्तावेजों को देखने के बाद और वह मुझसे व्यक्तिगत रूप से नहीं मिले, ऐसा नहीं लगता था।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad