रेलवे एवं निजी बस स्टैंड पर कोई सतर्कता नहीं - Ideal India News

Post Top Ad

रेलवे एवं निजी बस स्टैंड पर कोई सतर्कता नहीं

Share This
#IIN
Girish Chandra Yadav
मऊ : शहर के रेलवे स्टेशन तथा इसके प्लेटफार्मों एवं सहादतपुरा ब्रह्मस्थान स्थित निजी बस स्टैंड पर कोरोना वायरस से बचाव को लेकर कोई खास सतर्कता नहीं देखी जा रही है। औपचारिकता के तौर पर एक-दो दिन सफाई को पूरी मुस्तैदी से कराने के बाद रेलवे के कर्मचारियों ने लापरवाही शुरू कर दिया है। हालांकि, रेलवे स्टेशन पर पूछताछ कार्यालय के माध्यम से लोगों को कोरोना वायरस से बचने के लिए रह -रहकर चेतावनी दी जा रही है। शहर के रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन लगभग 10 हजार यात्रियों का आवागमन होता है। ऋतु परिवर्तन के कारण यहां आने वाले यात्रियों में से कई को खांसते व छींकते हुए देखा जा रहा है। हालांकि, किसी को छींकते या खांसते देखने के बाद यात्री स्वत: जागरूक होकर उसके पास से हट जा रहे हैं। वहीं, किसी को बिना रूमाल लगाए अथवा कोहनी मोड़कर छींकते न देखने पर लोग उसे विधिवत टोक भी रहे हैं। सूत्रों की माने तो रेलवे स्टेशन पर गंदगी के विशेष स्थानों पर जीवाणुरोधक दवाओं का छिड़काव कराया गया है, लेकिन प्रतीक्षा के लिए बैठने वाली कुर्सियों एवं स्टेशन भवन में टिकट खिड़कियों के पास लगी रेलिगों पर सैनिटाइज करने की केवल खानापूर्ति की जा रही है। मऊ जंक्शन के स्टेशन अधीक्षक ददन राम ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर स्वच्छता को लेकर कोई लापरवाही नहीं बरती जा रही है। स्वच्छता बनाए रखने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। उधर, निजी बस स्टैंड पर स्थिति और खराब है। उबड़-खाबड़ प्रांगण में हर तरफ गंदगी बिखरी पड़ी है। बसें सैनिटाइज हो रही हैं या नहीं यह देखने वाला कोई नहीं है। प्रतिदिन लगभग तीन हजार यात्री निजी बसों का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन वहां कोई सतर्कता नजर नहीं आ रही है। पालिकाध्यक्ष तैय्यब पालकी ने कहा कि फागिग और दवाओं का छिड़काव कराया जा रहा हैं। बस संचालकों को बसों को अंदर व बाहर से धुलाई कराने व जीवाणुरोधक दवाओं के छिड़काव के बाद ही चलाने का निर्देश दिया गया है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad