विकास को करेंगे हर संभव प्रयास : फागू चौहान - Ideal India News

Post Top Ad

विकास को करेंगे हर संभव प्रयास : फागू चौहान

Share This
#IIN 
Ajay Mishra and Sarwesh Kumar Tiwari
आजमगढ़ : होम्योपैथिक मेडिकल एसोसिएशन व राजकीय होमियोपैथिक मेडिकल कालेज चंडेश्वर के तत्वावधान में रविवार को राहुल प्रेक्षागृह में राष्ट्रीय होम्योपैथिक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें विशेषज्ञों ने दावा किया कि बिना आपरेशन अथवा दूसरी पैथी की मदद के गंभीर बीमारियों को जड़ से समाप्त करने में होम्योपैथी सक्षम है। सेमिनार में मौजूद निदेशक से जिले में भी एमडी की पढ़ाई शुरू करने की मांग की गई। बिहार के राज्यपाल फागू चैहान ने होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति को देश की चिकित्सा सेवा का सबसे महत्वपूर्ण अंग बताया और आश्वस्त किया कि इसके विकास के लिए जो भी हो सकेगा वह करेंगे। कहा कि देश ही नहीं, बल्कि विश्व की प्राचीन चिकित्सा पद्धतियों में एक है होम्योपैथी। इस पद्धति को आगे बढ़ाना सभी की जिम्मेदारी है। चिकित्सकों को यह बताना होगा कि होम्योपैथी हमारे लिए उपयोगी क्यों है। आयुर्वेद व एलोपैथ से होम्योपैथी कहां बेहतर है। माटी की भाषा में कहा कि आज भी समाज में भ्रांति है कि 'एतना छोट-छोट गोली, मुंहे से अंदर जाई कि ना जाई, ई रोग का ठीक करी।' ऐसे में सबको समझाना होगा कि यह छोटी गोली अपना काम करती है और इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। जहां तक आजमगढ़ में एमडी की पढ़ाई नहीं हो रही है तो मैं आयुष के मंत्री से इस संबंध में बात करूंगा और उसे शुरू कराने का प्रयास करूंगा। इससे पहले डा. अनिरुद्ध वर्मा, डा. अरुण भास्मी, डा. रामजी सिंह, डा. आनंद चतुर्वेदी, डा. सुभाष सिंह, डा. राजेन्द्र राजपूत, डा. पंकज श्रीवास्तव आदि ने होम्योपैथी के विकास के लिए जरूरतों पर चर्चा की। कार्यक्रम का प्रारंभ राज्यपाल फागू चैहान, अध्यक्ष हमाइ डा. रामजी सिंह, निदेशक उप्र होम्योपैथी डा. आनंद चतुर्वेदी, प्रदेश सचिव हमाइ डा. संजय मिश्र, पूर्व उपाध्यक्ष सीसीएच डा. अरुण भास्मे, निदेशक एनआइएच कोलकाता डा. सुभाष सिंह, चेयरमैन होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड डा. बीएन सिंह, डा. वीबी सिंह ने होमियोपैथी के जनक डा. हैनिमन की प्रतिमा पर माल्यापर्ण व दीप प्रज्वलित व माल्यापर्ण कर किया। छात्राओं ने सरस्वती वंदना व स्वागतगीत प्रस्तुत किया। राज्यपाल द्वारा चिकित्सा के क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए डा. सुभाष सिंह, डा. महेंद्र प्रताप सिंह, डा. हर्ष निगम को डा. डीपी रस्तोगी अवार्ड, डा. आनंद चतुर्वेदी को कर्मयोगी अलंकरण, भोपाल की डा. रीना सिंह को नारी शक्ति सम्मान, डा. धर्मराज सिंह, डा. अशोक सिंह, डा. लालचंद राम को डा. महेंद्र प्रताप सिंह मेमोरियल अवार्ड तथा डा. पवन पारिख आगरा, डा. निशांत श्रीवास्तव लखनऊ, पंकज श्रीवास्तव को स्पीकर अवार्ड से सम्मानित किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad