*काव्यसृजन की मासिक काव्यगोष्ठी व श्रद्धांजलि सभा सम्पन्न* - Ideal India News

Post Top Ad

*काव्यसृजन की मासिक काव्यगोष्ठी व श्रद्धांजलि सभा सम्पन्न*

Share This
#IIN

Dr Pramod Vachaspati


*काव्यसृजन की मासिक काव्यगोष्ठी व श्रद्धांजलि सभा सम्पन्न*


साहित्यिक ,सामाजिक व सांस्कृतिक संस्था काव्यसृजन की मासिक गोष्ठी दिनांक 2 फरवरी 2020 दिन रविवार को योगिराज श्रीकृष्णा विद्यालय सफेदपुल साकीनाका,मुम्बई में सम्पन्न हुई। जिसमे संस्था के पदाधिकारी श्री महेश गुप्ता जी की दादी आदरणीया मूरता देवी की दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि भी अर्पित की गई। आज की इस गोष्ठी की अध्यक्षता आदरणीय श्री राम प्यारे सिंह रघुवंशी जी ने की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे आदरणीय श्री देवनारायण शर्मा, आ0 श्री लव कुमार प्रणय जी (बैंक कर्मचारी)  थे,व अनिल गुप्ता जी थे। संस्था के संस्थापक आदरणीय श्री जौनपुरी जी ने अध्यक्ष व मुख्य अतिथि को शाल, श्रीफल व पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया। दिवंगत आत्मा स्व. मूरता देवी जी को व स्व.महावीर प्रसाद नेवटिया जी  श्रद्धांजलि देने के साथ ही साथ गोष्ठी का शुभारंभ हुआ।

संस्थापक श्री जौनपुरी जी ने सभी अतिथियों व आगन्तुकों का परिचय दिया व सबसे अवगत कराया।
 कार्यक्रम का कुशल संचालन संस्था के कोषाध्यक्ष श्री बीरेन्द्र कुमार यादव जी ने किया। काव्यपाठ करने वाले कवियों में श्री- हीरालाल यादव ,अनिल राही , श्री-जवाहरलाल निर्झर ,विनय शर्मा दीप , निर्मल नदीम ,एड.राजीव मिश्र , आर.जे. आरती सैया , रीतेश गौड़ , सुशील शुक्ला नाचीज , सतीश शुक्ल रकीब ,कल्पेश यादव , शुभम तिवारी ,आनन्द पाण्डेय केवल , महेश गुप्ता जौनपुरी,अनिल यादव ,एड अनिल शर्मा ,अल्हड़ असरदार ,अवधेश यदुवंशी , महासचिव लाल बहादुर यादव कमल , संस्थापक श्री शिवप्रकाश जौनपुरी  ,सौरभ जयंत , शोभा खण्डेलवाल , आ0 हौसिला प्रसाद सिंह अन्वेषी जी, भास्कर शर्मा व बीरेन्द्र यादव थे। अंत में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री-लव कुमार प्रणयजी व श्री देवनारायण शर्मा जी ने संस्था के प्रति अपनी कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए आशीर्वाद के रूप में दो शब्द कहकर हम सबका उत्साहवर्धन किया,अपने अतिथि व्याख्यान में व अपनी रचनाओं से दोनों ने चार-चाँद लगा दिए और एक सफल कार्यक्रम के आयोजन के लिए काव्यसृजन परिवार को बधाई दी। कार्यक्रम के अध्यक्ष आ0 रघुवंशी जी ने एड राजीव जी की रचना को 501 रुपये से सम्मानित करते हुए अपने अध्यक्षीय वक्तव्य में सभी कवियों की बेहतरीन समीक्षा प्रस्तुत की व बेहद खूबसूरत  स्नेहयुक्त कविताएं व ग़ज़लें सुनाईं। आदरणीय रघुवंशी जी ने काव्यसृजन संस्था को हृदय से धन्यवाद देते हुए कहा कि मुझे इस परिवार में आने पर अपनापन व बहुत ही स्नेह मिल रहा है। वे अभिभूत थे।हौसिला प्रसाद अन्वेषी जी ने भी आशीर्वचन के रूप में दो शब्द कहे व सभी कवियों / रचनाकारों का उचित मार्गदर्शन किया। आदरणीय जौनपुरी जी ने काव्यसृजन परिवार की सफलता के लिए अपने परिवार के सभी सदस्यों के प्रति अपनी कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद दिया। बीच-बीच में गर्मा-गर्म चाय व पकौड़े ने कार्यक्रम के आनन्द को खूब बढ़ाया। आखिर में संस्था के महासचिव आदरणीय कमल सर ने कार्यक्रम में आये हुए सभी अतिथियों, कवियों,श्रोताओं व सहयोगियों  के प्रति हृदय से आभार  ज्ञापित किया। अंत मे राष्ट्रगान के साथ ही काव्यसृजन की यह मासिक गोष्ठी सम्पन्न हुई। 



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad